Viral 18

Solar eclipse: 2046 तक नहीं दिखेगा ऐसा नजारा

 

 

डेस्क। Solar eclipse: कल यानी 14 अक्टूबर को आसमान में बेहद दुर्लभ सूर्य ग्रहण (सूर्य ग्रहण अक्टूबर 2023) दिखाई देने जा रहा है। यह वलयाकार सूर्य ग्रहण होगा, जिसे रिंग ऑफ फायर भी बोला जाता है।

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने यह बताया है कि 2012 के बाद पहली बार यह ग्रहण उत्तर, मध्य और दक्षिण अमेरिका के आकाश में दिखाई भी देगा और 2046 तक दोबारा भी नहीं देखा जाएगा।

वृत्ताकार या वलयाकार सूर्य ग्रहण को रिंग ऑफ फायर बोला जाता है। ऐसा तब होता है जब चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के बीच से होकर गुजरता है। हालाँकि, यह सूर्य को पूरी तरह से नहीं ढकता और सूर्य पर एक काली डिस्क जैसा दिखाई देता है। क्योंकि यह ग्रहण भारत में प्रभावी नहीं होगा और अगर आप इसे देखना चाहते हैं तो ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का रुख भी कर सकते हैं। नासा इस ग्रहण का लाइव कवरेज करने वाली है।

ग्रहण को इसके आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर आराम से देखा जा सकता है। इसका मतलब यह है कि दुनिया भर के लोग ‘रिंग ऑफ फायर’ का नजारा ऑनलाइन लाइव देख सकते हैं। इसका प्रसारण भारतीय समयानुसार रात 9 बजे शुरू होगा वहीं सूर्य ग्रहण को नंगी आंखों से देखना सुरक्षित नहीं माना जाता है। नासा का ये कहना है कि जो लोग मौके पर मौजूद रहेंगे और सूर्य ग्रहण देखेंगे, वे पिनहोल प्रोजेक्टर की मदद भी ले सकते हैं।

Hamas Israel War: पूर्व मुखिया खालिद ने की बड़ी अपील 

14 अक्टूबर को सूर्य ग्रहण के बाद 28 अक्टूबर को आंशिक चंद्र ग्रहण लगने वाला है। यह यूरोप, अफ्रीका, एशिया, अंटार्कटिका और ओशिनिया सहित पूर्वी गोलार्ध के अधिकांश हिस्सों में दिखाई देने वाला है। यह ग्रहण भारत में भी प्रभावी नहीं होगा। 

आमतौर पर सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण एक ही महीने में नहीं होते पर ऐसे में यह उन लोगों के लिए एक दिलचस्प मौका है जो आसमान में होने वाली घटनाओं में बेहद रुचि रखते हैं।

What's your reaction?

Related Posts

1 of 190