Viral 18

Paytm के चीन कनेक्शन पर हो रही चर्चा

 

डेस्क। वन नाइंटी सेवन कम्युनिकेशंस लिमिटेड की सहायक कंपनी Paytm पेमेंट्स सर्विसेज लिमिटेड (पीपीएसएल) की मुश्किले कम होने का नाम ही नहीं ले रही। अब भारत सरकार ने कंपनी के चीन से रिश्तों पर भी जांच शुरू कर दी है।

सरकार अब कंपनी में चीन के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की जांच करने में लगी है। पीपीएसएल ने नवंबर 2020 में भुगतान एग्रीगेटर के रूप में काम करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पास लाइसेंस के लिए आवेदन भी किया था।

आरबीआई ने आवेदन कर दिया खारिज

कतर में 8 भारतीयों की फांसी पर रोक के बाद देश वापसी

आरबीआई ने हालांकि नवंबर 2022 में पीपीएसएल के आवेदन को खारिज कर दिया है और कंपनी को इसे फिर से जमा करने के लिए बोला गया है, ताकि एफडीआई नियमों के तहत प्रेस नोट तीन का अनुपालन करा जा सके। वन97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड (ओसीएल) में चीनी फर्म एंट ग्रुप कंपनी का निवेश है और इसके बाद, कंपनी ने एफडीआई गाइडलाइंस के तहत निर्धारित प्रेस नोट तीन का अनुपालन करने के लिए ओसीएल से कंपनी में पिछले निवेश के लिए भारत सरकार के साथ 14 दिसंबर, 2022 को आवश्यक आवेदन भी दायर किया है।

मंजूरी लेना किया अनिवार्य

सूत्रों ने बोला है कि एक इंटर मिनिस्ट्रियल कमेटी पीपीएसएल में चीन से निवेश की जांच कर रही है और उचित विचार तथा व्यापक जांच के बाद एफडीआई मुद्दे पर निर्णय भी लिया जाएगा। साथ ही प्रेस नोट तीन के तहत, सरकार ने भारत के साथ भूमि सीमा साझा करने वाले देशों से किसी भी क्षेत्र में विदेशी निवेश से पहले उसकी मंजूरी लेना भी अनिवार्य कर दिया था। इस कदम का मकसद कोविड-19 महामारी के बाद घरेलू कंपनियों के अवसरवादी अधिग्रहण को रोकने का था।

PM Modi in UAE: क्यों अहम है पीएम मोदी का UAE दौरा 

पेटीएम के प्रवक्ता का जानिए बयान

पेटीएम के प्रवक्ता ने संपर्क करने पर बोला है कि पीपीएसएल ने ऑनलाइन व्यापारियों के लिए एक ऑनलाइन भुगतान एग्रीगेटर (पीए) का आवेदन किया था। इसी के साथ नियामक ने बाद में पीपीएसएल को पिछले निवेश के लिए आवश्यक मंजूरी लेने और आवेदन को फिर से जमा करने के लिए बोला गया था। प्रवक्ता ने ये कहा, ”भुगतान एग्रीगेटर लाइसेंस के लिए आवेदन करने वाले हर व्यक्ति को एफडीआई मंजूरी भी लेनी पड़ती है, और यह नियमित प्रक्रिया का हिस्सा है। प्रवक्ता ने बोला है कि पीपीएसएल ने प्रासंगिक दिशानिर्देशों का पालन किया और निर्धारित समय के भीतर सभी जरूरी दस्तावेज नियामक को सौंप भी दिए थे।

What's your reaction?

Related Posts

1 of 190