देश - विदेश

Ayodhya Ram Mandir: तीन दिन पीएम को करना होगा इन नियमों का पालन 

 

डेस्क। Ayodhya Ram Mandir: रामनगरी अयोध्‍या में रामलला के आगमन को लेकर सभी तरह की तैयारियों को अंतिम रूप दिए जाने का काम जोरो से हो रहा है। 22 जनवरी 2024 को रामलला की प्राण प्रतिष्‍ठा भी होनी है जिसे देखते हुए अयोध्‍या में उत्‍सवी माहौल बना हुआ है।

दूसरी ओर शिल्‍पकार से लेकर मजदूर तक राम मंदिर को प्राण प्रतिष्‍ठा के लिए तैयार करने में लगे हुए हैं। प्राण प्रतिष्‍ठा को देखते हुए मंगलवार से धार्मिक अनुष्‍ठान भी शुरू किया जा चुका है। इन सब तैयारियों के बीच श्रीराम जन्‍मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्‍ट के कोषाध्‍यक्ष गोविंददेव महाराज ने बड़ी जानकारी साझा करी है। उन्‍होंने ये भी बताया कि धार्मिक कार्यक्रम के आखिरी 3 दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चौकी पर सिर्फ कंबल बिछाकर के सोने वाले हैं।

2024 का आम बजट चुनावी दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 जनवरी 2024 को प्रभु रामलला की प्राण प्रतिष्‍ठा कराएंगे, ऐसे में उन्‍हें तमाम तरह के धार्मिक और वैदिक नियमों का पालन भी करना होगा। इस संबंध में श्रीराम जन्‍मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्‍ट के कोषाध्‍यक्ष गोविंददेव महाराज ने बड़ी जानकारी साझा की है।

उन्‍होंने ये कहा, ‘लास्‍ट के 3 दिन पीएम मोदी अपनी चौकी पर केवल कंबल बिछाकर के सोएंगे। इन तीन दिनों तक भोजन में सिर्फ फल का ही सेवन करेंगे। पीएम मोदी ने स्‍वयं पूछा था कि इसके लिए आखिर उनको क्‍या करना चाहिए। कठिन से कठिन जो भी होगा वह सबकुछ करने के लिए तैयार हैं। उनको विशेष मंत्रों का जाप करना है, जो उनको बता भी दिया गया है।’

Ayodhya ke Ram: Yogi adityanath ने दिया बड़ा तोहफा 

पीएम मोदी करेंगे दान और देंगे उपहार

श्रीराम जन्‍मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्‍ट के कोषाध्‍यक्ष गोविंददेव जी महाराज ने बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कुछ दान किया जाएगा और उपहार भी दिए जाने हैं। इनका पूजन किया जाएगा और उन्‍होंने बताया कि प्राण प्रतिष्‍ठा के लिए मुख्‍य यजमान अनिल मिश्रा होंगे।

Ram Mandir: क्या अधूरे मन्दिर की प्राण प्रतिष्ठा शास्त्र विरुद्ध

इनकी पात्रता लाने के लिए कुछ धार्मिक कर्म भी कराए जाएंगे। गोविंददेव महाराज ने ये बताया कि रामलला की प्रतिमा के मुखाबिंदु पर बाल भाव के साथ देव भाव भी है। ट्रस्‍ट के कोषाध्‍यक्ष ने कहा है कि जिन्‍होंने मंदिर के लिए बलिदान दिया है, उन सभी के प्रतीक के रूप में जटायु जी की मूर्ति बनाई गई है और उन प्रतिमाओं का पूजन स्‍वयं पीएम मोदी करने वाले हैं।

What's your reaction?

Related Posts

1 of 665