Viral 18

क्या बताती है आपकी हस्तरेखा, जानिए इसका महत्त्व 

21
×

क्या बताती है आपकी हस्तरेखा, जानिए इसका महत्त्व 

Share this article

 

डेस्क। हस्तरेखा शास्त्र अनुसार व्यक्ति के हाथ में मौजूद रेखा और चिह्न कई शुभ योगों के निर्माण के सूचक होते हैं। जिसमें से प्रमुख गजलक्ष्मी, शश, लक्ष्मी, पुष्कल, चामर आदि योग हैं। ऐसे में यहां हम बात करने जा रहे हैं चामर योग के बारे में, जो भाग्यशाली लोगों के हाथ में होता है।

 मतलब ये योग जिस व्यक्ति की हथेली में होता है तो व्यक्ति के पास अकूत धन- दौलत होती है। साथ ही व्यक्ति के पास खूब संपत्ति भी होती है और व्यक्ति दीर्घायु होती है। वहीं ऐसे व्यक्ति को समाज में मान- सम्मान और प्रतिष्ठा की प्राप्ति भी होती है। जिस व्यक्ति के हाथ में ये योग होता है, उन पर मां लक्ष्मी की विशेष कृपा रहती है। तो आइए जानते हैं हाथ में कैसे बनता है ये योग और इसके लाभ क्या है।

ऐसे बनता है हाथ में चामर योग

हस्तरेखा शास्त्र अनुसार यदि हाथ ही उंगलियां लंबी हो और उस पर नाखून लाल आभा के हों। इसके साथ ही सूर्य रेखा लंबी और पुष्ट हो और उसका उद्गम मणिबंध से हुआ हो। भाग्य रेखा का उद्गम भी मणिबंध से हुआ हो और दोनों रेखाएं उद्गम स्थान पर मिली हुई हों तो चामर योग बन जाता है।

व्यक्ति होता है विद्वान और प्रतिष्ठित

इस योग में जन्म लेने वाला व्यक्ति अत्यन्त उच्च प्रतिष्ठित और विद्वान लोगों के द्वारा पूजा जाता है, साथ ही वह खुद भी बेहद विद्वान होता है। उसको समाज में मान- सम्मान और प्रतिष्ठा की प्राप्ति होती है, वहीं ऐसे लोग विदेश में जाकर भी अपना नाम कमाते हैं। ये लोग मेहनती होते हैं और मेहनते के दम पर कम समय में सफलता भी हासिल करते हैं।

व्यक्ति होता है दीर्घायु

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार जिन लोगों के हाथ में ये योग होता है वे लोग वेदों और शास्त्रों को जानने वाले होते हैं। इसके साथ ही व्यक्ति दीर्घायु होता है और उनको सरकार से कोई ईनाम या पुरुस्कार मिलता है। इस योग के प्रभाव से व्यक्ति लेखक होते हैं। साथ ही ऐसे लोग स्पष्टवादी भी होते हैं और यह लोग दूसरों की मदद करते हैं। वहीं ये लोग व्यवहारिक होते हैं। साथ ही ऐसा व्यक्ति अनुशासित होता है और उसको लापरवाही भी पसंद नहीं होती।