राज्य

बस का गिरना जीवनदान! बचे यात्री ने बताई आप बीती 

डेस्क। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बोला है कि जम्मू कश्मीर के रियासी जिले में रविवार शाम आतंकवादियों ने तीर्थयात्रियों को ले जा रही एक बस पर गोलीबारी करनी शुरु कर दी जिससे बस जाकर खाई में गिर गई। इसमें नौ लोगों की मौत भी हो गई और 33 अन्य घायल हुए हैं।

जम्मू के रियासी क्षेत्र में आतंकी हमले में बचे वैष्णो देवी और शिवखोड़ी धाम के दर्शन करने गए यात्रियों की आपबीती बेहद ही खौफनाक रही है। बस पर हुए आतंकी हमले में जीवित बचने के लिए यात्री बाबा और मां वैष्णो देवी की कृपा बता रहे हैं। शिवखोड़ी से कटरा लौट रही बस पर हमले के लिए आतंकी घात लगाकर बैठे थे। इसी के साथ जैसे ही बस रियासी में पहुंची आतंकी बीच सड़क पर खड़े होकर गोलियां भी बरसाने लगे। आतंकियों की संख्या करीब चार की बताई जा रही है।

PM Modi New Government: जल्द ही भाजपा लाएगी वन नेशन वन इलेक्शन की पॉलिसी

आतंकियों की गोली ड्राइवर को जाकर लगी और फिर बस नीचे खाई में जा गिरी साथ ही ये सभी यात्री अलग-अलग जगह से वैष्णो देवी के दर्शन करने आए थे। शिवखोड़ी धाम के दर्शन के लिए सभी ने मिलकर कटरा में बस करी थी।

‘बस का गिरना जीवनदान’

इस घटना में बचे हुए खुशकिस्मत यात्रियों के मुताबिक बस का खाई में गिरना ही कई यात्रियों के लिए जीवनदान बन गया। क्योंकि अगर बस सड़क पर ही रहती तो गोलियां बरसा रहे आतंकी शायद ही किसी को जिंदा छोड़ते। 

यात्रियों की माने तो जैसे ही बस नीचे खाई में गिरी, चीख पुकार मच गई। साथ ही यात्रियों के मुताबिक आतंकी नीचे गिरती बस पर भी अंधाधुंध फायरिंग करते रहे। यही नहीं जब बस नीचे खाई में गिरी हुई थी और यात्रियों में चीख पुकार मची हुई थी, उस दौरान भी कुछ समय तक आतंकी गोलियां बरसाते ही रहे। मौक पर मिले खाली कारतूस भी इस बात की गवाही देती हैं। इस हमले में नौ यात्रियों की मौत हुई है और इसमें दो बच्चे भी हैं, जिसमें एक दो से तीन साल की उम्र का है। स्थानीय लोग घटनास्थल पर पहुंचे और पीड़ितों की मदद भी करी।

PM Modi 3.0: ये बड़े फैसले ले सकती है पीएम मोदी की सरकार 

इन घायल यात्रियों में नोएडा का भी एक यात्री है। इन यात्रियों के मुताबिक जब बस से छिटककर यात्री इधर- उधर जा गिरे तो आतंकी उनको गोलियों से निशाना बनाने लग गए। कुछ यात्रियों ने पेड़ और पत्थरों के पीछे छिपकर अपनी जान बचा ली। जिला अस्पताल में भर्ती एक घायल यात्री के मुताबिक इस दौरान उसकी पीठ पर गोली लगी और अगर वह छिपते नहीं तो जीवित बचना मुमकिन नहीं था।

What's your reaction?

Related Posts

1 of 725