राज्य

Ram Mandir Ayodhya: अयोध्या में इतना बढ़ेगा पर्यटन 

 

डेस्क। Ram Mandir Ayodhya: अयोध्या में राम मंदिर की भव्य प्राण प्रतिष्ठा के बाद अब शहर में हर साल कम-से-कम पांच करोड़ पर्यटकों के आने की संभावना लगाई जा रही है। यह संख्या स्वर्ण मंदिर और तिरुपति मंदिर में जाने वाले श्रद्धालुओं से भी कहीं अधिक है।

ब्रोकरेज फर्म जेफरीज ने रिपोर्ट में ये अनुमान जताया है कि हवाईअड्डे जैसे बुनियादी ढांचे पर बड़े पैमाने पर खर्च करने से यूपी का यह शहर देश के सबसे बड़े पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित भी होगा।

रिपोर्ट में यह कहा गया है कि एक नए हवाईअड्डे, विस्तारित रेलवे स्टेशन, आवासीय योजनाओं और बेहतर सड़क संपर्क जैसी सुविधाओं के लिए अयोध्या पर 10 अरब डॉलर से अधिक का खर्च किया गया हैं। इससे शहर में नए होटल खुलेंगे और अन्य आर्थिक गतिविधियां भी बढ़ेंगी। इससे अयोध्या आने वाले पर्यटकों की संख्या में काफी तेजी से इजाफा होने की संभावना है।

जेफरीज के अनुसार, धार्मिक पर्यटन अब भी भारत में पर्यटन का सबसे बड़ा खंड है। कई लोकप्रिय धार्मिक केंद्र बुनियादी ढांचे की बाधाओं के बावजूद भी हर साल एक-तीन करोड़ पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। इसलिए, बेहतर संपर्क व बुनियादी ढांचे के साथ एक नए धार्मिक पर्यटन केंद्र (अयोध्या) का निर्माण बड़ा आर्थिक प्रभाव को बढ़ावा दे सकता है।

जीडीपी में इतना होगा योगदान

रिपोर्ट के अनुसार, पर्यटन ने कोविड पूर्व यानी 2018-19 के दौरान जीडीपी में 194 अरब डॉलर का योगदान दिया था और 2032-33 तक इसके 8 फीसदी की दर से बढ़कर 443 अरब डॉलर पहुंचने की संभावना बनी हुई है।

इसलिए भी बढ़ेंगे पर्यटक

रिपोर्ट की माने तो, अयोध्या में नए हवाईअड्डे का पहला चरण शुरू हो चुका है। यह 10 लाख यात्रियों को संभाल सकता है। रेलवे स्टेशन को प्रतिदिन 60,000 यात्रियों को संभालने के लिए विस्तारित भी किया गया है। वर्तमान में अयोध्या में 590 कमरों वाले करीब 17 होटल बने हैं। 73 नए होटल तैयार भी किए जा रहे हैं। इंडियन होटल्स, मैरियट और विंडहैम पहले ही होटल बनाने के लिए समझौते भी कर चुके हैं।

Ram Mandir Ayodhya News Live Update 

इसके साथ ही आईटीसी भी अयोध्या में अपने लिए संभावनाएं तलाशने में जुटी हुई है। ओयो की योजना अयोध्या में 1,000 कमरे जोड़ने की है और 1,200 एकड़ की ग्रीनफील्ड टाउनशिप बनाने की भी।

Related Posts

1 of 770