धर्म

Pritu Paksh में ये पांच जीव आपको देते हैं शुभ संकेत 

 

 

डेस्क। Pritu Paksh: 4 creatures give big signs of good fortune: पितृ पक्ष का प्रारंभ भाद्रपद पूर्णिमा से होता है जोकि आश्विन अमावस्या तक 16 दिनों तक चलता है। इस साल पितृ पक्ष 29 सितंबर दिन शुक्रवार से प्रारंभ हो रहें है।

पितृ पक्ष में पितरों के तर्पण, दान, श्राद्ध, पिंडदान आदि कर्म करते हैं, लेकिन आपको मालूम होना चाहिए कि पितृ पक्ष में कुछ ऐसे जीव हैं, जो बड़े संकेत भी देते हैं। वे यह बताते हैं कि आपके पितर आप से खुश हैं या नाराज हैं। इतना ही नहीं, यदि वे जीव आपके हाथ का दिया खाना खा लेते हैं तो समझ लीजिए कि आपकी किस्मत चमकने ही वाली है तो आइए काशी के ज्योतिषाचार्य चक्रपाणि भट्ट से जानते हैं पितृ पक्ष में बड़े संकेत देने वाले उन 4 जीवों के बारे में ।

पितृ पक्ष में बड़े संकेत देने वाले 4 जीव

1. कौआ: पितृ पक्ष के समय में कौए की प्रतीक्षा उन सभी लोगों को होती है, जो अपने पितरों का श्राद्ध कर रहे हैं। कौआ जब आता है तो वह आपके पितरों से जुड़े संकेत देता है और यदि आपने अपने पितरों के लिए भोजन का अंश निकाला है, वह उसे खा लेता है तो समझ लीजिए कि वह भोजन आपके पितरों को प्राप्त हो गया। उससे वे प्रसन्न और तृप्त भी हो जाते हैं और वे आपकी उन्नति, खुशहाली, वंश और धन में वृद्धि का आशीर्वाद आपको देते हैं।

यदि कौआ आपके दिए गए भोजन को नहीं खाता है तो वह अन्न पितरों को प्राप्त नहीं होता है और इससे वे अतृप्त रह जाते हैं अतृप्त और नाखुश पितर नाराज होकर आपको श्राप देते हैं।

PM Narendra Modi security breach: पीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक 

2. गाय: हिंदू धर्म में गाय एक पवित्र और पूज्यनीय जीव है। मान्यताओं के अनुसार, गाय में देवों का वास होता है। पितृ पक्ष के समय में आप गाय के लिए भोजन निकालते हैं और अगर वह उसे खा लेती है तो वह पितरों को प्राप्त हो जाता है। यह संकेत हैं कि आपके पितर प्रसन्न हैं।

3. कुत्ता: पितृ पक्ष में पितरों तक भोजन पहुंचाने के लिए उनकी तिथि पर खाने का कुछ अंश कुत्ते को भी खिलाया जाता है। इससे पितरों की आत्म तृप्त हो जाती है और वे अपने वंश को खुशहाली का आशीर्वाद भी देते हैं।

4. चींटी: पितृ पक्ष में पितरों की तिथि पर भोजन बनाया जाता है फिर उस भोजन का एक अंश चींटियों को डाल देते हैं ताकि वे उसे खाएं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, चीटियों के माध्यम से वह भोजन पितर प्राप्त करके तृप्त होते हैं। पर अगर ये जीव आपके दिए गए भोजन को ग्रहण नहीं करते हैं तो यह पितरों के अतृप्त रहने का संकेत होता है।

Surya Grahan 2023 : अगले महीने साल का दूसरा सूर्य ग्रहण, जानिए डेट

What's your reaction?

Related Posts

1 of 165