धर्मराज्य

Lord Ram Ayodhya: घर में राम दरबार का विशेष महत्व

 

 

Lord Ram Ayodhya: पूरा देश इस वर्ष भगवान श्रीराम की भक्ति में डूबा हुआ है। इस मौके का राम भक्तों को कई बरसों से इंतजार भी था अब वो मौका आखिरकार 22 जनवरी को आने ही वाला है। अयोध्या के भव्य राम मंदिर में रामलला विराजमान होगें।

भगवान राम को मर्यादा पुरुषोत्तम भी बोल जाता है। रामायण कथा में बताया गया है कि भगवान राम का जीवन धर्म, सत्य, प्रेम, करुणा, मर्यादा और सदाचार के लिए पूरी तरह से समर्पित भी रहा है।

इजरायल में क्यों काम करने जा रहें भारतीय, मिल रहीं ये सुविधाएं 

धर्म और मर्यादा के लिए उन्होंने अपने जीवन में कभी समझौता नहीं किया इसके साथ ही भगवान राम का जीवन समाज के सामने एक पूर्ण आदर्श जीवन जीने का उदाहरण भी देता है। भगवान राम के जीवन पर आधारित रामायण ग्रंथ का हिंदू धर्म में एक विशेष महत्व रहा है। रामायण हमें भी भगवान राम की तरह एक आदर्श जीवन जीने के लिए प्रेरित करती है और इसलिए घर में रामायण का पाठ करना अति कल्याणकारी माना जाता है। रामायण का पाठ करने के साथ ही साथ घर के मंदिर में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम का दरबार लगाने का काफी विशेष महत्व माना जाता है। तो आइए जानते हैं:

Lord Ram Ayodhya: राम दरबार को कैसे सजाएं?

भगवान राम के दरबार में मुख्य भगवान श्रीराम हैं। भगवान श्री राम के साथ उनकी पत्नी माता सीता, छोटे भाई लक्ष्मण और प्रणाम की मुद्रा में श्रीराम के सम्मुख सिर झुकाकर बैठे हुए भगवान बजरंगबली भी विराजमान हैं।

घर के मंदिर में राम दरबार का क्या है महत्व

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार घर में राम दरबार की स्थापना करने का शुभ महत्व होता है। ऐसा माना जाता है जिस घर के मंदिर में राम दरबार होता है वहां नकारात्मक शक्तियां नहीं टिक सकती। घर में हमेशा सकारात्मक ऊर्जा बनी ही रहती है। घर में प्रतिदिन राम दरबार की पूजा अर्चना करने से उस घर के सदस्यों में प्रेम और सद्भाव की भावना भी बनी रहती है।

Samsung का ये ऑफर आपको भी खरीदने पर कर देगा मजबूर 

ये माना जाता है घर के मंदिर में राम दरबार की पूजा करने से साधक की कुंडली में उपस्थित ग्रह दोष दूर हो जाते हैं घर में सुख शांति का माहौल भी बना रहता है। मृत्यु के बाद कहा जाता है कि साधक को भगवान श्रीराम के चरणों में मोक्ष की प्राप्ति होती है।

Related Posts

1 of 929