राजनीति

Sanjay Singh After Bail Big News Update

 

 

डेस्क। आप सांसद संजय सिंह लिवर से जुड़ी बीमारी के इलाज के लिए लिवर और पित्त विज्ञान संस्थान (आईएलबीएस) अस्पताल में भर्ती हुए है। अस्पताल में लिवर की बायोप्सी भी की गई है।

सुप्रीम कोर्ट से बेल ऑर्डर राउज एवेन्यू कोर्ट पहुंच गया है। साथ ही में कोर्ट ने सुनवाई के बाद जमानत की शर्तें तय कीं हैं। राउज एवेन्यू कोर्ट ने आप सांसद संजय सिंह को अपना पासपोर्ट सरेंडर करने को बोला है। कोर्ट ने कहा है कि संजय सिंह सबूतों के साथ छेड़छाड़ नहीं करेंगे। वे दिल्ली-एनसीआर छोड़कर नहीं जाएंगे और शराब घाटाला मामले में कोई बयान या टिप्पणी भी नहीं कर सकते हैं।

आप सांसद संजय सिंह के वकील ने अदालत से दिल्ली-एनसीआर छोड़ने से पहले पूर्व अनुमति की शर्तें नहीं लगाने का आग्रह भी किया है। उन्होंने ये कहा है कि वह एक राजनीतिक नेता हैं और यह चुनाव का समय चल रहा है। अदालत ने ये कहा गया है कि वह दिल्ली-एनसीआर छोड़ने से पहले अपनी यात्रा का कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे।

उधर, आप सांसद संजय सिंह से मिलने के लिए उनके मां और बेटे आईएलबीएस भी अस्पताल पहुंचे। संजय सिंह लिवर से जुड़ी बीमारी के इलाज के लिए लिवर और पित्त विज्ञान संस्थान (आईएलबीएस) अस्पताल में भर्ती हैं। इसके साथ ही अस्पताल में लिवर की बायोप्सी भी की गई है।

मुख्तार की मौत के बाद जेल के कैदियों में डर, खाना खाने से इनकार

इस जांच के बाद से ही रिपोर्ट के आधार पर आगे का इलाज होगा। जानकारी के लिए बता दें मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने आबकारी नीति मामले में संजय सिंह को जमानत पर छोड़ने का आदेश भी दिया था।

आज से बदल रहे ये नियम, जानना काफी जरुरी 

इसी कड़ी में एएनआई ने तिहाड़ जेल के सूत्रों के हवाले से ये बताया है कि तिहाड़ जेल अधिकारियों को अभी तक आप सांसद संजय सिंह की जमानत का आदेश नहीं मिला है। जमानत की शर्तों के साथ कोर्ट में आदेश तैयार किया जाएगा, जिसके बाद आदेश को जेल भेजा जाना है।

आप सांसद संजय सिंह की पत्नी अनीता सिंह ने ये बताया कि,’कल हमने संजय सिंह को अस्पताल में नियमित जांच के लिए भर्ती कराया था जहां हमें पता चला कि उन्हें बेल मिल गई है। जबतक मेरे तीनों भाई (अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन) बाहर नहीं आते तबतक हमारे घर में कोई जश्न नहीं मनाया जाएगा।’

What's your reaction?

Related Posts

1 of 259