राजनीति

One Nation One Election: एक बार फिर राजनीतिक गलियारों में उठी एक चुनाव की मांग 

 

 

News: One Nation One Election: एक राष्ट्र एक चुनाव पर उच्च स्तरीय समिति के प्रमुख और पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने एक साथ चुनाव के मुद्दे पर देश के पूर्व मुख्य न्यायाधीश यूयू ललित और बार काउंसिल ऑफ इंडिया से परामर्श भी किया है।

बीते दिन शनिवार को एक आधिकारिक बयान में बोल गया कि सेवानिवृत्त न्यायाधीशों के साथ अपनी चर्चा जारी रखते हुए, कोविंद ने मेघालय उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश संजीब बनर्जी और बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा से भी मुलाकात करी है। इन लोगों ने इस विषय पर अपनी सुविचारित राय भी दी।

चुनाव उच्च आर्थिक विकास को मिलेगी गति

बयान में यह भी बोला गया है कि समिति की शनिवार को बैठक हुई जिसमें पैनल के सदस्य और पूर्व वित्त आयोग प्रमुख एनके सिंह और प्राची मिश्रा के द्वारा सह-लिखित शोध पत्र ‘मैक्रोइकोनॉमिक इम्पैक्ट ऑफ हार्मोनाइजिंग इलेक्टोरल साइकल, एविडेंस फ्रॉम इंडिया’ पर एक प्रस्तुति करी गई है। । प्रेजेंटेशन में ये भी संकेत दिया गया कि एक साथ चुनाव कराने से आर्थिक विकास को काफी बढ़ावा मिलने वाला है।

Education News: किस फील्ड में करें मास्टर्स 

शनिवार की बैठक में राज्यसभा में पूर्व नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद, एनके सिंह, पूर्व लोकसभा महासचिव सुभाष सी कश्यप, पूर्व सीवीसी संजय कोठारी और वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे भी शामिल हुए है वहीं यह समिति की चौथी बैठक थी।

जमीनी स्तर पर लोकतंत्र होगा मजबूत- कोविंद

बयान में ये भी बोला गया है कि राजनीतिक दलों के साथ अपनी चर्चा जारी रखते हुए, कोविंद ने गोवा की महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के अध्यक्ष दीपक ‘पांडुरंग’ धवलीकर के साथ बातचीत करी। इस पार्टी ने एक राष्ट्र, एक चुनाव की अवधारणा को अपना मजबूत समर्थन भी दिया है। पार्टी का मानना है कि इससे जमीनी स्तर पर लोकतंत्र भी मजबूत होगा।

What's your reaction?

Related Posts

1 of 259