इतिहास के पन्ने

आज का इतिहास भारत मे स्वर्णिम अक्षरों में मुद्रित

इतिहास- आज का इतिहास भारत मे स्वर्णिम अक्षरों में मुद्रित है। क्योंकि आज भारत गणराज्य बना था। 26 जनवरी 1950 को आज के दिन भारत का संविधान लागू हुआ था और लोगों को उनके अधिकारों से परिचित करवाया गया था।

भारतीय संविधान दुनिया का सबसे अनोखा संविधान है। क्योंकि यह एक नहीं बल्कि 10 अलग अलग देशों की व्यवस्था से मिलकर बना है। भारतीय संविधान को बनकर तैयार होने में 2 साल 11 माह 18 दिन का समय लगा। संविधान सभा मे कुल 389 सदस्य थे। जिसमें से 292 प्रांतों के प्रतिनिधि थे, 93 रियासतों का प्रतिनिधित्व करते थे। इसमें 15 महिलाएं भी शामिल थी। 

संविधान की ड्राफिंग पर 24 जनवरी 1950 को सभी सदस्यों ने हस्ताक्षर किए। वहीं अगर हम भारतीय संविधान की बात करें तो यह लोगों को कुछ विशेष अधिकार प्रदान करता है जिसके चलते लोग अपना जीवन अपने अनुसार व्यवस्थित कर सकते हैं।

संविधान में लोगों के लिए 6 मौलिक अधिकार और 11 मौलिक कर्तव्यों का वर्णन किया गया है। संविधान के मुताबिक भारत मे प्रत्येक व्यक्ति स्वतंत्र है और वह अपना जीवन बिना किसी के हस्तक्षेप के जी सकता है। 

संविधान लोगों को समता, शिक्षा, बराबरी, धार्मिक स्वतंत्रता, अभिव्यक्ति की आजदी जैसे कई अन्य अधिकार प्रदान करता है।

Show More

Related Articles

Back to top button