देश - विदेश

Israel Palestine war: चार दिन में इतनी मौतें 

18
×

Israel Palestine war: चार दिन में इतनी मौतें 

Share this article

 

डेस्क। Israel Palestine war: इजरायल और हमास के बीच जारी युद्ध में चार दिन में दोनों तरफ से 2100 लोगों की जान चली गई है। वहीं इजरायल और फिलिस्तीन के संघर्ष में 2008 से 2020 के बीच 12 वर्षों में 5850 लोगों की मौत हो गई थी।

7 सितंबर को हमास के सप्राइज अटैक के बाद से इजरायल लगातार फिलिस्तीन पर बम भी बरसा रहा है। गाजा पट्टी की हालत सबसे ज्यादा खराब हो गई है।

अल जज़ीरा के मुताबिक इजरायली हमले में 900 फिलिस्तीनियों की जान गई है। वहीं इजरायल ने यह दावा किया है कि उनके 1200 के करीब लोगों की मौत हो गई है। यूनाइटेड नेशनल के अनुसार गाजा पट्टी से 260,000 से अधिक लोगों को अपना घर छोड़ने के लिए मजबूर भी होना पड़ रहा है।

यूनाइटेड नेशन ऑफिस का Coordination of Humanitarian Affairs (OCHA) इजरायल-फिलिस्तीन संघर्ष पर अपनी नज़र बनाएं रखता है। OCHA के मुताबिक, 2008 से 2020 के बीच इजरायल-फिलिस्तीन संघर्ष में 5,600 फिलिस्तीनी मारे भी गए और 115,000 इसमें घायल हुए। इसी अवधि में 250 इजरायली मारे गए और 5,600 इसके घायल हुए थे।

भारत में मोस्ट वॉन्टेड लतीफ़ की पाकिस्तान में हत्या

2014 में हिंसा विशेष रूप से अधिक थी और जब इजरायल ने तीन किशोरों के अपहरण और हत्या के जवाब में गाजा में ऑपरेशन प्रोटेक्टिव एज को शुरु किया। यह अभियान सात सप्ताह तक चला था। इजरायल के ऑपरेशन में 2,000 से अधिक लोगों की मौतें हुईं, जिनमें से अधिकांश गाजा के ही लोग थे। 2018 में इजरायल-गाजा सीमा पर बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए था जिसमें 28,000 से अधिक फिलिस्तीनी घायल भी हुए थे।

इजरायल के आलोचक गाजा को “खुली हवा वाली जेल” बोलते हैं क्योंकि गाजा के लोग इजरायली की अनुमति के बिना यात्रा तक नहीं कर सकते।