देश - विदेश

Iran-Israel Conflict: मिडिल ईस्ट फिर बना दुनिया के लिए चिंता का विषय 

 

डेस्क। Iran-Israel Conflict: ईरान और इजरायल के बीच संघर्ष ने एक बार फिर दुनिया की चिंता बढ़ाने जा रही है। ऐसा इसलिए भी है कि यहां से कच्चे तेल का आयात दुनियाभर में होता रहा है। अगर क्रूड के दाम बढ़े तो महंगाई की मार देखने को मिल रही है।

ईरान और इजरायल के बीच शुरू हुए संघर्ष (Iran-Israel Conflict) से दुनिया में एक बार फिर रूस-यूक्रेन और इजरायल-हमास के बीच युद्ध की तरह की चिंता बढ़ने लगी है। अगर इजरायल जबावी हमला करता है और दोनों देशों में तनाव काफी बढ़ता है, तो ग्लोबल सप्लाई चेन पर असर पड़ता है और इससे तमाम देश प्रभावित भी हो सकते हैं।

 भारत की अगर बात करें, तो दोनों ही देशों के साथ भारत का बड़ा व्यापार है और अगर आयात प्रभावित होता है, तो महंगाई (Inflation) बढ़ने का भी खतरा काफी रहता है। तो आइए जानते हैं ईरान और इजरायल से भारत क्या आता है और इन दोनों देशों को भारत क्या निर्यात भी करता है?

Lok Sabha Election 2024 : बिहार में कुछ यूं बदल रहा सियासी रुख 

कच्चे तेल को लेकर बढ़ गई चिंता

मिडिल ईस्ट में तनाव ने दुनिया की चिंता बढ़ाने का काम किया है और ऐसा इसलिए भी यहां से कच्चे तेल (Crude Oil) का आयात दुनियाभर में होता है। खासतौर पर भारत पर नजर डालें, तो देश दुनिया में कच्चे तेल का तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता बन गया है और अपनी 85 फीसदी से ज्यादा जरुरतों को पूरा करने के लिए आयात पर निर्भर भी है। भारत अपनी जरूरत के कच्चे तेल का एक हिस्सा ईरान से भी लेता है। वहीं  ईरान से होने वाले क्रूड ऑयल के आयात में गिरावट जरूर देखने को मिल रही है।

What's your reaction?

Related Posts

1 of 665