Latest Newsदेश - विदेश

गैस एजेंसी खोलना बना इस समय का बेस्ट बिजनेस

 

डेस्क। देश में एलपीजी सिलेंडरों की बढ़ती मांग को देखते हुए गैस एजेंसी का बिजनेस एक अच्छे आइडिया के तौर पर देखा जा सकता है। इसके साथ ही आप कुछ शर्तों का पालन करें तो आसानी से गैस एजेंसी भी खोल सकते हैं और एलपीजी सिलेंडर का बिजनेस शुरू कर सकने में सक्षम है। 

आपको पता है कि एलपीजी अत्यधिक ज्वलनशील पदार्थ है जिसे बहुत ही सावधानी के साथ हैंडल किया जाता है। वहीं इतना ही नहीं इस वजह से सरकार गैस एजेंसी का लाइसेंस देने के लिए कई बातों पर गौर भी करती है।

गैस एजेंसी बिजनेस शुरू करने से पहले आपको अपने इलाके का एक छोटा सा सर्वे करना होगा। आपको यह जानना होगा कि आपका किस तरह का इलाका है और वहां किस तरह की एजेंसी का लाइसेंस मिल सकता है। इसमें चार तरह के डिस्ट्रिब्यूटरशिप आते हैं शहरी वितरक, रूरबन वितरक, ग्रामीण वितरक और दुर्गम क्षेत्रीय वितरक।  इन चार में से आप जिस इलाके में एजेंसी चाहते हैं, उसी हिसाब से आपको अप्लाई भी करना होता है।

क्या आप ले सकते हैं गैस एजेंसी 

आवेदक को भारत का निवासी होना चाहिए।

आवेदक को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं पास होना चाहिए। 

आवेदक की आयु 21 से 60 वर्ष के बीच में होनी चाहिए। 

आवेदन की तिथि के अनुसार आवेदक परिवार का सदस्य या ओएमसी का कर्मचारी बिल्कुल नहीं होना चाहिए।

वरुण धवन ने लगाया अर्जुन कपूर पर आरोप, तो भड़क उठे चाचा अनिल 

कैसे करें अप्लाई जानिए स्टेप बाय स्टेप गाइड

1-एलपीजी वितरक चयन वेबसाइट पर रजिस्टर करिए। जिसके लिए आपको इस लिंक https://www.lpgvitarakchayan.in/ पर जाना होगा और यहां रजिस्टर पर अगर पहली बार अप्लाई कर रहे हैं तो यहां आपको अपना मोबाइल नंबर भी देना होगा जिस पर आपके लिए ओटीपी आएगा।

2- जब आपको अपना ओटीपी मिल जाए तो उसे दर्ज करें और वेबसाइट पर अपनी जानकारी देकर अपना प्रोफाइल बना लें। इसके बाद आप डिस्ट्रिब्यूरशिप के लिए अप्लाई करें।

3-सभी तेल मार्केटिंग कंपनियां समय-समय पर विज्ञापन देती हैं और गैस एजेंसी के लिए नोटिस भी निकालती हैं। 

4-जब आपको अपने क्षेत्र में गैस एजेंसी खोलने का विज्ञापन मिल जाए तो आप अपने प्रोफाइल के यूज से आवेदन कर सकते हैं। साथ ही प्रोफाइल बनाना जरूरी है क्योंकि यह आवेदन प्रक्रिया को आसान बनाता है। वहीं आपको अपनी डिस्ट्रीब्यूटरशिप के आधार पर आवेदन शुल्क का भुगतान भी करना होगा। यह आवेदन शुल्क गैर-वापसी योग्य होता है।

केजरीवाल के दो विधायकों के खिलाफ कोर्ट का फैसला, हुई जेल

Show More

Related Articles

Back to top button