सच और मीडिया

मीडिया में जॉब न मिलने के लिए पूरी तरह इंडस्ट्री दोषी नहीं

Media jobs – मीडिया क्षेत्र में करियर बनाना बेहद मुश्किल होता जा रहा है। लेकिन आपको यह नहीं पता होगा कि ऐसा आखिर हो क्यों रहा है। असल मे लोग भले ही इसके लिए मीडिया इंडस्ट्री और रिफरेंस को दोष देते हैं। 

लेकिन वास्तव में मीडिया इंडस्ट्री में करियर बनाना कठिन इसलिए भी हो गया है क्योंकि आज के युवा बिना उम्दा क्वालिटी के बेहतर विकल्प तलाश रहे हैं। युवाओं को यह लगता है कि यदि उन्होंने मीडिया का कोर्स पूर्ण कर लिया है तो वह मीडिया में महारथी हो गए हैं।

लेकिन सत्य तो यह है कि लोगों को यह नहीं पता है कि वह क्या काम बेहतर तरीके से कर सकते हैं। न उन्हें हिंदी लिखनी आती है। न हिंदी बोलनी आती। न वह राजनीति का ज्ञान रखते हैं। न ही वह खबरों को हवा में उड़ाना जानते हैं। लेकिन वह यही चाहते हैं कि उन्हें मीडिया में जॉब मिल जाए।

लोगों को मीडिया में जॉब नहीं मिलने पर पूर्ण रूप से जिम्मेदार इंडस्ट्री को नहीं मान सकते हैं। क्योंकि बिना काबिलियत के किसी को कोई मुकाम हासिल नहीं होता है। सफल होने के लिए व्यक्ति को काबिल होना आवश्यक है और जो काबिल नहीं उसके लिए सफलता नहीं है।

Show More

Related Articles

Back to top button