राज्य

अप्रैल में हुई अबतक की सबसे ज्यादा बारिश

 

डेस्क। इस बार अप्रैल के महीने में राज्य में दोनों मौसम देखने को मिले। कहीं बारिश होती रही तो कहीं गर्मी से लोग परेशान नजर आए।

मध्यप्रदेश में पहली बार अप्रैल के महीने में इतनी बारिश हुई है और मई में भी प्रदेश के कई जिलों में हल्की बारिश हो सकती है। सोमवार से मंगलवार के बीच प्रदेश के इंदौर, नर्मदापुरम, जबलपुर, शहडोल संभागों के जिलों में कहीं कहीं बारिश दर्ज की गई एवं शेष सभी संभागों के जिलों में मौसम मुख्यतः शुष्क बना रहा।

Leo Horoscope Today: इस कारण बढ़ सकता है खर्च 

उमरिया में तीव्र गरम रात रही व जबलपुर, शहडोल संभागों में अधिकतम तापमान काफी बढ़ गए एवं शेष सभी संभागों के तापमानों में विशेष परिवर्तन नहीं देखा गया है।

 मंगलवार को छिन्दवाड़ा, अनूपपुर, बैतूल, खंडवा, मंडला, बालाघाट, सिवनी में गरज-चमक के साथ तेज हवाएं भी चलीं। प्रदेश में सर्वाधिक अधिकतम तापमान 43.4 °C रीवा में दर्ज करा गया तथा सबसे कम न्यूनतम तापमान 21.4 °C पचमढ़ी (नर्मदापुरम) में दर्ज हुआ।

पहली बार अप्रैल में 20 दिन बारिश

अप्रैल के महीने में मध्यप्रदेश में तेज गर्मी पड़ती है पर इस बार न सिर्फ बारिश हुई, बल्कि अप्रैल महीने में बारिश के कई रिकॉर्ड भी टूट गए। पहली बार 20 दिनों तक बारिश हुई। भोपाल में तो ओवरऑल बारिश का रिकॉर्ड भी टूट गया है। बारिश से प्रदेश का 80% हिस्सा तक भीग चुका है।

सोमवार से मंगलवार के बारिश के आंकड़े (मिमी में)

बिछुआ 13.6, हर्राई 5.4, घोड़ाडोंगरी 4.0, मोहखेड़ 2.2, मुलताई 2.2, प्रभातपट्टन 2.0, लांजी 1.7, कुरई 1.1, धनौरा 1.0, घंसौर 0.9, खालवा 0.8, जैतहरी 0.4, नैनपुर 0.2

सोमवार से मंगलवार तक हुई ओलावृष्टि

छिन्दवाड़ा (मोहखेड़), बैतूल (घोड़ाडोंगरी), सिवनी (घंसौर)।

UK सरकार ने रामदेव की कंपनी पतंजलि के 14 उत्पादों का लाइसेंस किया रद्द 

बारिश, आंधी की जारी चेतावनी

बेतूल, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, बालाघाट ओर पांढुर्णा जिलों में।

What's your reaction?

Related Posts

1 of 725