राज्य

Disease X deadlier than Covid-19: कोरोना से ज्यादा होंगी मौते 

 

Disease X deadlier than Covid-19: कोरोना खत्म होने के बाद लोगों ने राहत की सांस ली थी कि वैज्ञानिकों ने एक और संभावित महामारी को लेकर चिंता जताई है और इस महामारी को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने ‘डिजीज एक्स’ का नाम दिया है।

डब्ल्यूएचओ ने यह भी बोला है कि हो सकता है कि यह दुनिया में फैलना शुरू हो गया है।

यूके के हेल्थ एक्सपर्ट्स ने डिजीज एक्स के बारे में बोला है, ‘जल्द ही एक नई महामारी देखने को मिल सकती है जो कोविड-19 से भी अधिक घातक साबित होगी। वहीं 1918-1920 में स्पैनिश फ्लू से दुनिया भर में 5 करोड़ लोगों की जान गई थी और डिसीज एक्स के कारण भी इतनी ही मौतों की उम्मीद लगाई जा रही है।’

यूके की वैक्सीन टास्कफोर्स की चेयरमेन रहीं डेम केट बिंघम का यह कहना है कि, ‘डिसीज एक्स कोरोना वायरस से 7 गुना अधिक घातक है और यह लगभग 5 करोड़ लोगों की जान भी ले सकती है।’ डब्ल्यूएचओ के डेटा के मुताबिक, दुनिया भर में कोरोना से लगभग 70 लाख मौते हुई थीं और अब आने वाली महामारी ने चिंताएं और भी बढ़ा दी हैं और अब डिसीज एक्स को कोरोना से भी काफी खतरनाक माना जा रहा है। तो आइए जानते हैं डिसीज एक्स आखिर क्या है, यह कैसे फैलता है, इससे बचने के तरीके क्या हैं और इस बारे में एक्सपर्ट की क्या राय है?

जानिए डिसीज एक्स क्या है? (What is Disease X)

डिसीज एक्स एक टर्म है जिसका प्रयोग ऐसी बीमारी के बारे में बताने के लिए किया गया है जो इंफेक्शन से फैलता है। इसके बारे में मेडिकल साइंस भी अच्छे से नहीं जानता कि यह किससे होती है। यह कैसे फैलती है, कहां से शुरुआत होगी और उसका अंत कैसे होगा।

Gautam Gambhir: A Cricketing Legend’s Journey to Glory

WHO का यह कहना है कि ,’डिसीज एक्स’ बिना ज्ञात उपचार वाला एक नया वायरस, जीवाणु, बैक्टीरिया, फंगस या कवक भी हो सकता है।’

What's your reaction?

Related Posts

1 of 738