धर्म

आचार्य चाणक्य के मुताबिक इन गुणों से परिपूर्ण होना चाहिए घर का मुखिया

आध्यात्मिक- आचार्य चाणक्य ने जीवन से जुड़े कई अहम पहलुओं पर अपनी राय रखी है। उनका कहना है कि घर का नेतृत्व जिस व्यक्ति के हाथ मे हो उसे सुयोग्य होना चाहिए। क्योंकि अगर घर का मुखिया ठीक नहीं होता है तो घर मे समस्या आती है और घर का संचालन सुनिश्चित तरीके से नहीं हो पाता।

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि यदि घर का मुखिया अनुशासन रखने में निपुण है। तो घर की तरक्की होती है और घर के लोग अपने कर्म के प्रति ईमानदार रहते हैं। वही जो व्यक्ति घर का नेतृत्व करता है उसे घर के प्रत्येक व्यक्ति को समानता के भाव से देखना चाहिए। क्योंकि समानता से सम्मान बढ़ता है और घर के किसी भी व्यक्ति को यह अनुभव नहीं होता है कि उसके साथ घर मे दोहरा व्यवहार किया जा रहा है।

इसके साथ आचार्य चाणक्य के मुताबिक घर के मुखिया को फजुल खर्च से बचना चाहिए और सदैव बजट बनाकर बचत करते हुए घर चलाना चाहिए। कहते हैं जब घर का मुखिया बचत करता है तो घर की तरक्की होती है और घर मे सुख समृद्धि का वास होता है।

Show More

Related Articles

Back to top button