देश - विदेश

तीन आदतों से पता चलेगा आप शादी के लिए तैयार हैं या आपको चाहिए वक्त

रिलेशनशिप– कहते हैं जोड़ियां ऊपर वाला बनाता है और जिसके भाग्य में जो लिखा होता है उसे वह मिल ही जाता है। लेकिन कई बार हमारे साथ ऐसा होता है कि लोग हमसे बार बार पूंछते हैं कि क्या आप शादी के लिए तैयार हैं। लेकिन हम समझ नहीं पाते कि हमें शादी करनी चाहिए या नहीं। 

हम इस कन्फ्यूजन में रहते हैं कि हमारा मन अभी शादी के लिए तैयार नहीं है। लेकिन आपकी कुछ आदतें ऐसी भी हैं जो यह बताती हैं कि आप अब शादी के लिए तैयार हो चुके हैं। तो आइए जानते हैं उन आदतों के बारे में जो बताती हैं कि आप शादी के मूड में हैं या नहीं…

एडजेस्टमेंट-

अगर आप परिस्थितियों के अनुकूल स्वयं को ढालने के गुण से परिपूर्ण हैं। तो आप शादी के लिए तैयार हो चुके हैं। लेकिन अगर आप स्वयं को परिस्थितियों के मुताबिक नहीं ढाल पाते हैं। बात-बात पर आपको गुस्सा आ जाता है। अगर कुछ आपके मन का नहीं हुआ तो आप खिन्न रहने लगते हैं। 

तो आपको अभी शादी नहीं करनी चाहिए और स्वयं को समय देना चाहिए। क्योंकि समय बदल गया है और अब रिश्ते आपसी सामंजस्य स्थापित करने से ही टिक पाते हैं। यदि आप यह नहीं कर पाते हैं तो रिश्ते में दरार आती है और रिश्ता टूट जाता है।

हालाकि इसका मतलब किसी का भी दुर्व्यवहार सहन करने से नहीं है। सामन्जय बिठाना यानी स्वयं को एक दूसरे की परिस्थितियों के अनुकूल बनना और गुस्सा न करके एक दूसरे का साथ देना होता है।

मैं का भाव-

यदि आपके व्यवहार में मै का भाव है तो आपको अभी शादी नहीं करनी चाहिए। क्योंकि यह भाव रिश्ते को नष्ट कर देता है और आप अपने पार्टनर के साथ लम्बे समय तक नहीं टिक पाते। मैं भाव को रखने वाले लोगों को अभी शादी नहीं करनी चाहिए। ऐसे लोगों को स्वयं को वक्त देना चाहिए और अपने स्वभाव में परिवर्तन करना चाहिए।

परिवार की समझ-

यदि आप अभी परिवार को प्रथमिकता नहीं दे पा रहे हैं। आपको यही लगता है कि आप सिर्फ अपने लिए बने हैं। तो आपको विवाह नहीं करना चाहिए। क्योंकि विवाह सिर्फ दो लोगों का मिलन नहीं है। यह दो परिवारों का मिलन है और जो व्यक्ति परिवार के साथ नहीं रह पाता वह अभी विवाह के लिए तैयार नही है।

Show More

Related Articles

Back to top button