देश - विदेश

इब्राहिम रईसी की खोज जारी, पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने जताई चिंता 

 

डेस्क। इब्राहिम रईसी 2021 में राष्ट्रपति चुनाव के बाद ईरान की सत्ता में आए थे। वहीं ईरान के सर्वोच्च नेता अली खामेनेई के करीबी बन गए हैं। खामेनेई ने नागरिकों से ‘चिंता नहीं करने’ को बोला है।

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और विदेश मंत्री हुसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन का हेलीकॉप्टर पूर्वी अजरबैजान के पश्चिमी प्रांत के जोफा क्षेत्र के पहाड़ों में दुर्घटनाग्रस्त हुआ। 63 वर्षीय ईरानी राष्ट्रपति आज इस प्रांत के दौरे पर थे और वहां उन्होंने अज़रबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीव के साथ दोनों देशों की सीमा पर एक बांध परियोजना का उद्घाटन भी किया था।

 ईरान के सर्वोच्च नेता सैय्यद अली खामेनेई ने रईसी के हेलीकॉप्टर दुर्घटना के बाद नागरिकों से ‘चिंता नहीं करने’ को बोला है। इस सूचना के आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित विश्व के कई नेताओं ने इब्राहिम रईसी की सलामती को लेकर चिंता व्यक्त की है।

दो लोगों से हो पाया संपर्क

रईसी का हेलीकॉप्टर तीन हेलिकॉप्टरों के बेड़े का हिस्सा था और घने कोहरे और खराब मौसम के कारण हेलीकॉप्टर का अब तक पता नहीं चल पाया है। तस्नीम समाचार एजेंसी के अनुसार, बेड़े में शामिल अन्य दो हेलिकॉप्टर सुरक्षित रूप से अपने गंतव्य तक पहुंच चुके हैं। रईसी के हेलीकॉप्टर का अभी तक पता नहीं चल पाया है और एक ईरानी अधिकारी ने रॉयटर्स को यह बताया कि रईसी और विदेश मंत्री अमीराब्दुल्लाहियन की जान “हेलीकॉप्टर दुर्घटना के बाद खतरे में” थी।

अधिकारी ने कहा, “हम अभी भी आशान्वित हैं, लेकिन दुर्घटनास्थल से आ रही जानकारी के बाद से चिंता बनी हुई है।” रईसी की हालत के बारे में कोई खबर नहीं है और हालांकि, सूत्रों ने बताया कि लापता हेलीकॉप्टर में सवार दो लोगों से अब संपर्क हो गया है।

खराब मौसम के कारण हुई परेशानी

राज्य समाचार एजेंसी आईआरएनए ने यह बताया कि खराब मौसम ने बचाव प्रयासों को काफी जटिल बना दिया है। समाचार एजेंसी ने बोला है कि खोजी कुत्तों और ड्रोन का इस्तेमाल करने वाली 40 से अधिक बचाव टीमें घटनास्थल पर भेजी गईं हैं।

राज्य मीडिया के फुटेज में आईआरसीएस टीम और अन्य बचाव अधिकारियों को हेलीकॉप्टर का पता लगाने के लिए घने कोहरे में पहाड़ी ढलान पर चलते हुए भी दिखाया गया है और सरकारी टीवी ने अपने गृह नगर में रईसी के लिए प्रार्थना कर रहे लोगों के फुटेज भी प्रसारित किए है। आंतरिक मंत्री अहमद वाहिदी ने बोला है कि हेलीकॉप्टरों में से एक को “खराब मौसम की स्थिति के कारण हार्ड लैंडिंग करनी पड़ी” और विमान के साथ “संचार स्थापित करना काफी मुश्किल” था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, “आज राष्ट्रपति रईसी के हेलीकॉप्टर के संबंध में रिपोर्टों से बेहद चिंतित हूं और हम संकट की इस घड़ी में ईरानी लोगों के साथ एकजुटता से खड़े हैं और राष्ट्रपति और उनके दल की भलाई के लिए प्रार्थना भी करते हैं।”

What's your reaction?

Related Posts

1 of 665