Latest Newsदेश - विदेश

इस बार विशेष होगा भारतीय आयुर्वेद दिवस, मंत्रालय कर रहा तैयारी 

 

डेस्क। आयुष मंत्रालय के तहत अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (एआईआईए) में आयुर्वेद दिवस 2022 के लिए कार्यक्रम शुरू किए जा चुके हैं। वहीं 23 अक्‍टूबर को मनाए जाने वाले आयुर्वेद दिवस को लेकर छह हफ्ते तक जन जागरुकता अभियान भी चलाया जा रहा है जिसमें हर दिन हर घर आयुर्वेद को लोगों तक पहुंचाने की कोशिश की जानी है। इस साल आयुर्वेद दिवस के लिए आयुष मंत्रालय के शासनादेश भी दिया है और इसको आगे बढ़ाने के लिए एआईआईए को नोडल एजेंसी के रूप में चुना जा चुका है।

बता दें कि आयुष मंत्रालय हर साल धन्वंतरि जयंती पर आयुर्वेद दिवस मनाता है और इस साल यह 23 अक्टूबर को मनाया जाना है। इस वर्ष मंत्रालय इसे भारत सरकार के सभी मंत्रालयों और विभागों के सहयोग से मनाने वाला है ताकि देश के प्रत्‍येक व्यक्ति को भारत की इस पारंपरिक चिकित्सा पद्धति से अवगत भी कराया जा सके। वहीं खास बात यह है कि आयुर्वेद को लेकर जन जागरुकता फैलाने में भारत सरकार के सभी मंत्रालय और विभाग अपना सहयोग देंगे। 

जानकारी के लिए बता दें कि इसे लेकर आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल का कहना है, ‘छह सप्ताह का कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की परिकल्‍पना को आगे बढ़ाने के लिए एक प्रयास का रूप है। इस कार्यक्रम की सफलता तभी संभव होगी जब हम भारत के प्रत्येक नागरिक तक पहुंचने में सक्षम हो सकें और इसलिए आने वाले हफ्तों में, हम अपनी सारी ऊर्जा लोगों के साथ बातचीत करने और उन्हें संवेदनशील बनाने पर भी केन्द्रित करनी होगी ताकि आयुर्वेद का संदेश सभी स्तरों से लोगो तक फैल सके। वहीं हर दिन हर घर आयुर्वेद हर घर में ‘समग्र स्वास्थ्य के लिए आयुर्वेद’ के बारे में जागरूकता पैदा करने पर जोर भी देता है। इससे हमारे देश को स्वस्थ और मजबूत बनने में भी मदद मिल पाएगी।’

Show More

Related Articles

Back to top button