Sunday, November 27, 2022

Gandhi Jayanti special- जाने गांधी जी के अनमोल वचन जो जिंदगी को देते हैं नई दिशा

The greater our innocence, the greater our strength and the swifter our victory. 

The Earth has enough resources to meet the needs of all but not enough to satisfy the greed of even one person. 

Gandhi Jayanti special- Know the priceless words of Gandhi ji which give new direction to life.

 All the religions of the world, while they may differ in other respects, unitedly proclaim that nothing lives in this world but Truth.

Happy Gandhi jayanti

देश– हर साल 2 अक्टूबर को गांधी जयंती का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन को अहिंसा दिवस के रूप में मनाया जाता है। गांधी जी ने अहिंसा के मार्ग पर चलकर देश को अंग्रेजो की गिरफ्त से मुक्त करवाया। महात्मा गांधी भारत के महान स्वतंत्रता सेनानियों में से एक है।

महात्मा गांधी को बच्चे प्यार से बापू कहकर बुलाते हैं और इन्हें राष्ट्रपिता भी कहा जाता है। महात्मा गांधी ने अपने भाषणों से देश के लोगो के मन मे आजादी की आग जला दी थी। वह महज एक नेता नही वह एक युग पुरुष थे। वही आज हम आपको बताने जा रहे हैं महात्मा गांधी के कुछ अनमोल विचार जो सभी के जीवन का उद्धार कर सकते हैं।

जाने गांधी के अनमोल विचार-

मेरा धर्म सत्य और अहिंसा पर आधारित है। सत्य मेरा भगवान है, अहिंसा उसे पाने का साधन।

प्रार्थना मांगना नहीं है। यह आत्मा की लालसा है। यह हर रोज अपनी कमजोरियों की स्वीकारोक्ति है। प्रार्थना में बिना वचनों के मन लगाना, वचन होते हुए मन न लगाने से बेहतर है।

निर्मल अन्तःकरण को जो प्रतीत हो, वही सत्य है।

भूल करने में पाप तो है ही, परंतु उसे छुपाने में उससे भी बड़ा पाप है।

भविष्य में क्या होगा, मैं यह नहीं सोचना चाहता। मुझे वर्तमान की चिंता है। ईश्वर ने मुझे आने वाले क्षणों पर कोई नियंत्रण नहीं दिया है।

मैं हिन्दी के जरिए प्रांतीय भाषाओं को दबाना नहीं चाहता, किंतु उनके साथ हिन्दी को भी मिला देना चाहता हूं।

अपनी गलती को स्वीकारना झाडू लगाने के समान है, जो धरातल की सतह को चमकदार और साफ कर देती है।

जो समय बचाते हैं, वे धन बचाते हैं और बचाया हुआ धन, कमाए हुए धन के बराबर है।

काम की अधिकता नहीं, अनियमितता आदमी को मार डालती है।

व्यक्ति अपने विचारों से निर्मित एक प्राणी है, वह जो सोचता है वही बन जाता है।

श्रद्धा का अर्थ है आत्मविश्वास और आत्मविश्वास का अर्थ है ईश्वर में विश्वास।

अहिंसा ही धर्म है, वही जिंदगी का एक रास्ता है।

जिस दिन प्रेम की शक्ति, शक्ति के प्रति प्रेम पर हावी हो जाएगी, दुनिया में अमन आ जाएगा।

चिंता से अधिक कुछ और शरीर को इतना बर्बाद नहीं करता और वह जिसे ईश्वर में थोड़ा भी यकीन है उसे किसी भी चीज के बारे में चिंता करने पर शर्मिंदा होना चाहिए।

प्रेम की शक्ति दंड की शक्ति से हजार गुनी प्रभावशाली और स्थायी होती है।

पाप से घृणा करो, पापी से प्रेम करो।

जो भी चाहे अपनी अंतरात्मा की आवाज सुन सकता है। वह सबके भीतर है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,585FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles