Latest Newsदेश - विदेश

नामीबिया नहीं हैं कोई आम देश पाई जाती हैं ये अजीबोगरीब चीजे 

 

डेस्क। नामीबिया से विशेष मालवाहक विमान से 8 चीतों को भारत लाया गया है। बता दें की उन्हें मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में रखा गया है जहां एक समय था जब भारत में 10 हजार के करीब चीते दिखाई दिया करते थे पर आज दूसरे देशों से इन्हें लाकर बसाया जा रहा है। वहीं क्या आप जानते हैं कि इस समय दुनिया में चीतों की आबादी कितनी है?

आपको बता दें की नेशनल जियोग्राफिक की एक रिपोर्ट के मुताबिक, दुनियाभर में फिलहाल 7 हजार के करीब चीते ही बचे हैं। जिस देश से चीतों को भारत लाया गया है, वहां भी हजारों चीते मौजूद हैं। आज हम आपको इस देश (नामीबिया) के बारे में कुछ अजीबोगरीब और रोचक बातें बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में शायद ही कोई आपको जानकारी देगा।

अफ्रीकी देश नामीबिया में एक ऐसी जनजाति रहती है जिसकी महिलाएं पूरे जीवन में सिर्फ एक बार ही नहाती हैं और वो भी अपनी शादी के दिन, पर फिर भी इन्हें अफ्रीका की सबसे खूबसूरत महिलाओ में गिना जाता है। इस जनजाति को हिंबा जनजाति के नाम से जाना जाता है जो कुनैन प्रांत में रहती है। और यहां की महिलाएं हेमटाइट डस्ट और जानवर की चर्बी से बना पेस्ट अपने शरीर पर लगाती हैं, इस वजह से उनके शरीर का रंग काफी लाल भी हो जाता है।

इसी के साथ बता दें की नामीबिया में ही एक ऐसी भी जगह हैं, जहां सागर रेगिस्तान से मिलता दिखाई देता है। इसे दुनिया का सबसे पुराना रेगिस्तान बताया जाता है, जिसके बारे में कहा जाता है कि यह करीब साढ़े पांच करोड़ साल से भी अधिक पुराना है। वहीं चौंकाने वाली बात ये भी है कि यहां दिखने वाले रेत के टीले दुनिया में सबसे बड़े होते हैं यह रेगिस्तान यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों में भी शामिल है।

साथ ही नामीबिया में एक ऐसी झील भी है जिसे दुनिया की सबसे बड़ी भूमिगत झील माना  जाता है, इस झील का नाम ड्रैगन्स ब्रीद है, जिसे आमतौर पर ‘ड्रैगन की सांस’ भी कहा जाता है। बता दें कि यह झील जमीन के नीचे लगभग 100 मीटर की (330 फीट) गहराई में स्थित है और लगभग 2 हेक्टेयर यानी 4.9 एकड़ में फैली हुई है।

Show More

Related Articles

Back to top button