राज्य

Apple Warranty Update: कंपनी ने अपनी पॉलिसी में किया बड़ा बदलाव

डेस्क। Apple Warranty Update: ऐपल ने अपनी रिपेयर पॉलिसी में काफी बड़ा बदलाव किया है। बता दें तो इसका सीधा असर यूजर्स पर पड़ेगा और iPhone और Apple Watch पर सिंगल हेयरलाइन क्रैक होने पर इन्हें स्टैंडर्ड वारंटी में कवर भी किया जाता था। अब कंपनी इसे वारंटी में कवर नहीं करेगी यानी इस तरह के क्रैक के रिपेयर के लिए यूजर्स को अब पैसे भरने होंगे।

Apple ने अपनी रिपेयर और वारंटी पॉलिसी में एक बदलाव किया है। कंपनी ने इस महीने iPhone और Apple Watch के लिए अपनी पॉलिसी को अपडेट भी कर दिया। अपडेट के बाद कंपनी ‘सिंगल हेयरलाइन क्रैक’ को स्टैंडर्ड वारंटी में कवर नहीं करने वाली। पहले Apple Watch और iPhone पर सिंगल हेयरलाइन क्रैक होने पर भी उस पर स्टैंडर्ड वारंटी दी जाती थी।

इसके लिए डिवाइस पर फिजिकल डैमेज को कोई दूसरे निशान नहीं होना चाहिए थे और इस वारंटी का मतलब था कि अगर आपके फोन या वॉच में मामूली क्रैक होता है, तो आप उसे फ्री में वारंटी के तहत ठीक भी करा सकते थे। 

कंज्यूमर्स को देने होंगे पैसे

अब ऐपल ने अपनी पॉलिसी में बदलाव कर भी दिया है। अगर आपके डिवाइस में कोई भी क्रैक मिलता है, तो उसे वारंटी में कवर नहीं करा जाएगा। बल्कि इस तरह की दिक्कत को एक्सिडेंटल डैमेज के तहत ही ठीक किया जाएगा। इसका मतलब ये है कि आपको इन्हें रिपेयर कराने के लिए भी पैसे देने होंगे।

इस पॉलिसी की जानकारी ऐपल स्टोर और ऐपल ऑथराइज्ड सर्विस प्रोवाइड्स को एक हफ्ते पहले ही दे दी गई थी और सर्विस सेंटर्स अब डिवाइस पर सिंगल क्रैक होने पर भी उसे एक्सिडेंटल डैमेज के तहत ठीक भी कर रहे हैं। इसके लिए कंज्यूमर को अब पैसे देने होंगे।

कैसे बचा सकते हैं आप अपने पैसे?

हालांकि, iPads और Macs की वारंटी पर अभी भी सिंगल हेयरलाइन क्रैक को कवर किया जा रहा है और अभी ऐपल ने अपनी पॉलिसी में बदलाव का कारण नहीं बताया है। ये बदलाव काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसका सीधा असर कंज्यूमर्स पर होगा। साथ ही उन्हें अब मामूली क्रैक के लिए पैसे खर्च करने होंगे, जो पहले वारंटी में ही कवर होता था।

Related Posts

1 of 770