Sunday, November 27, 2022

जाने कब है धनतेरस, नरक चतुर्दशी, दीवाली, गोवर्धन पूजा और भाई दूज

Diwali 2022: हिंदूओ का प्रमुख त्योहार दीवाली आने वाला है। बाजार पूरी तरह सज चुके हैं। लोग अपने घरों की सफाई और दीवाली की तैयारियों में लग चुके हैं। यह हिंदूओ का सबसे बड़ा त्योहार है। वैसे इस त्योहार को सभी धर्मों के लोग मनाते हैं। 

दीवाली सुख समृद्धि शांति सकारात्मकता का प्रतीक है। दीवाली के त्योहार का उत्सव पांच दिन चलता है। यह कार्तिक मास के कृष्णपक्ष की त्रयोदशी से लेकर कार्तिक मास के शुक्लपक्ष की द्वितीया तक मनाया जाता है। दीपावली पर धनतेरस, नरक चतुर्दशी, दीपावली, गोवर्धन पूजा और भाई दूज मनाया जाता है। 

हिन्दू धर्म मे इन सभी त्योहारों का अपना एक अलग महत्व होता है। कहते हैं यह सभी त्योहार घर मे खुशियों की बरसात करते हैं। रिश्तों में मिठास लाते हैं और अपनों के बीच प्रेम को बढ़ाते हैं।

वही आज हम जानेंगे की दीवाली के यह पांच त्योहार कब मनाए जायेगे-

धनतेरस

पांच त्योहार में धनतेरस सबसे पहला त्योहार है। यह 23 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इस दिन माता लक्ष्मी और धन के देवता कुबेर जी की पूजा की जाती है। कहते हैं विधि विधान से माता लक्ष्मी और कुबेर महाराज की पूजा अर्चना करने से घर मे लक्ष्मी का वास होता है और घर की दरिद्रता दूर होती है।

नरक चतुर्दशी-

धनतेरस के बाद नरक चतुर्दशी का त्योहार मनाया जाता है। यह इस बार 24 अक्टूबर को पड़ रहा है। यह त्योहार घर से नकारात्मकता का नाश करने के लिए मनाया जाता है। इस दिन लोग घर मे एक दिया जलाते हैं और ईश्वर से अपने अपनो के अच्छे जीवन की कामना करते हैं। कहते हैं इस दिन भगवान हनुमान जी का जन्म हुआ था। जो भी व्यक्ति सच्चे मन से इस दिन अपने ईष्ट को याद करता है उसके जीवन के क्लेश दूर हो जाते हैं।

दीवाली

24 अक्टूबर के दिन दीवाली का महापर्व मनाया जाएगा।क्योंकि इस दिन कार्तिक मास की अमावस्या तिथि सायंकाल 05:30 बजे से लग जाएगी. इस दिन में सभी लोग अपने घर को दियो से सजाते हैं। माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की अपने घर मे पूजा करते हैं। कहते हैं इस दिन विद्या की बारिश होती है और जो व्यक्ति श्रद्धा भाव से माता की पूजा अर्चना करता है उसका जीवन खुशियों से भर जाता है और उसके घर मे माता लक्ष्मी का वाश होता है।

गोवर्धन पूजा-

गोवर्धन पूजा 26 अक्टूबर को मनाई जाएगी। इस दिन गोवर्धन पर्वत और गाय की पूजा का विधान है। इसे अन्नकूट भी कहते हैं। कहते हैं इस दिन विधि पूर्वक पूजा पाठ करने से घर मे कभी अन्न की कमी नही होती है।

भाई दूज-

भाई दूज का त्योहार इस साल 27 अक्टूबर को मनाया जाएगा। यह भाई बहन का त्योहार है। इस दिन बहन ईश्वर से अपने भाई की लंबी आयु की कामना करती है और उसको टीका लगाकर उसके दीर्घायु जीवन के लिए उपवास रखती है।

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,585FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Articles