राजनीति

हे राम, जीवन जीने का तरीका है- बीजेपी आरएसएस के लोग राम की तरह नहीं जीते जीवन

देश– मध्यप्रदेश से गुजर रही भारत जोडो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने कहा, बीजेपी और आरएसएस वाले लोग अपनी जीवन प्रभु श्री राम की तरह नहीं जीते हैं। हे राम, जीवन जीने का तरीका है।इसने पूरी दुनिया को प्यार, भाईचारा, सम्मान और तपस्या का मतलब सिखाया।

इसी तरह, जय सिया राम का अर्थ है, सीता और राम एक हैं और भगवान राम ने सीता के सम्मान के लिए लड़ाई लड़ी। जय श्री राम का मतलब है कि भगवान राम की जय हो, लेकिन बीजेपी और आरएसएस के लोग उनकी (भगवान राम) तरह जीवन नहीं जी रहे और महिलाओं के सम्मान के लिए नहीं लड़ रहे है।

उन्होंने आगे किसानों की समस्या को केंद्रित करते हुए कहा, किसानों को खाद नहीं मिल रही है और 50 हजार रुपये से एक लाख रुपये तक का कर्ज नहीं चुकाने के लिए किसानों को परेशान किया जा रहा है जबकि बैंकों द्वारा लाल कालीन बिछा कर उद्योगपतियों के बड़े कर्ज माफ कर दिए जाते हैं। 

छोटी दुकानें और प्रतिष्ठान रोजगार का सबसे बड़ा स्रोत थे, लेकिन वे सकल घरेलू उत्पाद (जीएसटी) और नोटबंदी से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं. कांग्रेस नेता ने कहा कि रोजगार का एक प्रमुख स्रोत सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (पीएसयू) थे, लेकिन उन्हें भी बंद किया जा रहा है और यहां तक कि अस्पतालों और स्कूल का भी निजीकरण किया जा रहा है तथा इस प्रकार नौकरी के सभी अवसर समाप्त हो रहे हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button